Inn Baadalon Ka Mizaaz Bhi…
Mere Mehboob Jaisa Hai,
Kabhi Toot Ke Barasta Hai,
Kabhi Berukhi Se Guzar Jata Hai.

Baarish Shayari Sad Love Hindi Shayari

इन बादलों का मिज़ाज भी…
मेरे महबूब जैसा है,
कभी टूट के बरसता है,
कभी बेरुखी से गुजर जाता है।

Leave a Reply