dosti shayari

नफरत करो उनसे जो भुलाना जानते हों,
रूठो उनसे जो मनाना जानते हों,
प्यार करो उनसे जो निभाना जानते हों,
दोस्ती उनसे जो दिल लुटाना जानते हों।

Leave a Reply