Aye Dil Ye Tune Kaisa Rog Liya…
Apno Ko Bhulakar, Gair Ko Apna Maan Liya.

ए दिल ये तूने कैसा रोग लिया…
अपनों को भुलाकर, गैर को अपना मान लिया।

(Visited 7 times, 1 visits today)

Leave a Reply