Ishq Me Doobi Huyi Koi Ghazal Use Pasand Nahin,
BewafaYi Ke Har Sher Pe wo Waah-Waah Karte Hain.

इश्क में डूबी हुई कोई ग़ज़ल उसे पसंद नहीं,
बेवफाई के हर शेर पे वो वाह-वाह करते हैं।

(Visited 2 times, 1 visits today)

Leave a Reply