आज वो फिर इश्क की दास्ताँ सुनाने आये है,
आज वो फिर प्यार जताने आये है,
जिनके गम के आसूं हम कब के पोंछ चुके,
आज वो फिर हमे रुलाने आये हैं।

आप हमारे दिल में उतर गये हो,
आंगन आंगन खुशबू की तरह बिखर गये हो,
जब से छुआ है तेरे जिस्म को मेरी निगाहों ने,
तो हम भी निखर गये हैं और आप भी निखर गये हो।

आप से करीबी इतनी हुआ करे,
हो दूरियां फिर भी दूरी न लगा करे।

 

top love shayari in hindi

अब हम उनसे नही करते है ज्यादा बात,
क्योंकि उनसे मिलके रोक नही पाते है हम अपने जज्बात।

अब उसकी मोहब्बत पर मेरा हक तो नही रहा है,
लेकिन लगता है अब भी मेरा दिल उसका इंतज़ार कर रहा है।

बीते पलों को वापस नही ला पाओगे ,
सूखे फूलो को कभी नही खिला पाओगे ,
भले ही हम से दूर चले जाओ,
लेकिन कभी हमे भुला नही पाओगे ।

चाहता हूँ तुझे अपने दिल में छुपाना,
क्योंकि मेरी जान बहुत बुरा है जमाना।

दोनों की पहली चाहत थी,
दोनों एक दूसरे को टूट कर चाहा करते थे,
वो कसमे लिखा करती थी,
और हम वादे लिखा करते थे।

एक पल की ये बात नही,
दो पल का ये साथ नही,
वैसे तो ये जिंदगी बहुत प्यारी है,
लेकिन वो साथ ही क्या जिसमे तेरा हाथ नही।

हम अक्लमंद भी इतने है की उनका झूठ पकड़ लेते है,
और उनसे प्यार भी इतना है की उनके झूठ को भी सच मान लेते है।

हम जानते है आप जीते हो इस दुनिया के लिए,
किसी दिन जीके देखो हमारे लिये,
इस दिल की क्या औकात है,
हम तो ये दुनिया छोड़ देंगे तुम्हारे लिए।

हम कभी रेत पर नाम नही लिखते,
क्योंकि रेत पर लिखे नाम नही टिकते,
इस जमाने ने हमे पत्थर दिल करार दे दिया,
लेकिन पत्थरो पे लिखे नाम कभी नही मिटते।

हम ये कैसे बताये आपको कैसे है हम,
बस इतना समझ लीजिये आप खुश है तो खुश है हम।

हम तेरे ख्वाबो के बिना कभी सो नही सकते,
बिना तेरी याद के कभी खो नही सकते,
तू तो मेरी दिल की धड़कन है साँसे है,
और धड़कन और साँसे मुझसे जुदा हो नही सकते।

हमे इस बात से कोई फर्क नही पड़ता अापने किसे चाहा और कितना चाहा,
हम तो सिर्फ इतना जानते है हमने तो सिर्फ आपको चाहा और हद से ज्यादा चाहा।

हमने अपनी निगाहों में छिपाया है तुझे,
हमने अपनी सांसो में छिपाया है तुझे,
ये जमाना ढूँढ़ते ढूँढ़ते हो जायेगा पागल,
दिल के ऐसे कोने में छुपाया है तुझे।

इतना भरोसा तो अपने वजूद पर रखते है,
कोई हमसे कितना भी दूर हो जाये,
पर हमे भुला नही सकता है।

जिस दिन ये आँखे तेरा दीदार करती है,
उस दिन मेरे दिल की धड़कने एक नया त्यौहार करती है।

कश्ती के मुसाफिर ने समंदर नही देखा,
निगाहे तो देखी पर दिल में उतर के नही देखा,
लोग समझते है में पत्थर हूँ,
अरे हम तो माँ है किसी ने आज तक छू के नही देखा।

कोई मुझको अच्छी सी सजा दे जा,
चल ऐसा कर तू मुझे भुला जा,
जो तू हमे अपना प्यार न दे सके,
तो तू हमे मौत आ जाये ये दुआ दे जा।

कुछ इतने खामोश हुआ करते है,
वो शरेआम नही हुआ करते है,
कुछ रिश्ते सिर्फ महसूस हुआ करते है,
उनके कोई नाम नही हुआ करते है।

क्यों जुदा जुदा लगते हो ऐसे तो तड़पाओ न,
कितने हसीन पल है इनकी गुजारी है हमारे पास आ जाओ न।

लोग मोहब्बत करते है बड़े शोर के साथ,
हम भी कर बैठे थे बड़े जोर के साथ,
और अब हम करेंगे बड़े गौर के साथ,
क्योंकि कल हमने देखा था किसी और के साथ।

मेरे आँखों के ख्वाब और दिल के अरमान हो तुम,
तुझसे ही मैं हूँ मेरी पहचान हो तुम,
मैं अगर जमी हूँ तो मेरा आसमान हो तुम,
सच कहूँ मेरे लिए मेरा जहां हो तुम।

मेरी आँखों से आंसू नही आते,
पर ये दिल चुप चुप के रोया करता है,
इतनी मोहब्बत तुझे इस जहां में नही कर सकता,
जितनी मोहब्बत अकेला ये दिल तुझसे करता है।

मेरी यादों में तुम हो,या मेरी याद ही तुम हो,
मेरे ख्वाबो में तुम हो, या मेरा ख्वाब ही तुम हो,
ये मेरा दिल बार बार मुझसे पूछता है एक ही सबाल,
मेरी जान में तुम हो, या मेरी जान ही तुम हो।

मिलना है तुझसे बिछड़ने से पहले,
पाना है तुझे खोने से पहले,
और तेरे साथ जीना है मुझे मरने से पहले।

मोहब्बत के रिश्ते कितने अजीब होते है,
दूर कितने भी हो लेकिन कितने करीब होते है,
हम मोहब्बत में लुट गये तो क्या,
ये तो अपने अपने नसीब होते है।

मोहब्बत वो एहसास है जो मिटता नही,
मोहब्बत वो पर्वत है जो झुकता नही,
मोहब्बत की कीमत तो हमसे पूछो,
मोहब्बत वो अनमोल हीरा है जो बिकता नही।

शाम भी खास है वक्त भी खास है,
इसका तुझे भी एहसास है मुझे भी एहसास है,
और उस रब से क्या चाहिये,
जब मैं तेरे साथ हूँ और तू मेरे साथ है।

न जाने क्यों मेरा दिल उससे प्यार करता है,
न जाने क्यों मेरा दिल इतना मुझे बेकरार करता है,
मै जानता हूँ उससे मुझे बफा नही मिलेगी,
फिर भी न जाने क्यों मेरा दिल उस पर ऐतबार करता है।

नजरे कर्म मुझ पर इतना न कर,
की तेरी इश्क में मैं बाघी हो जाऊ,
मुझे इतना न पिला इश्क ए जाम,
की मैं इस जहर की आदि हो जाऊँ।

प्यार करो एक को पर किसी नेक को,
ये कोई मंदिर का प्रसाद नही जो बाट दो हर एक को।

तेरा चेहरा रात का तारा लगता है,
ये तारा कितना प्यारा लगता है।
तुझसे मिल कर इमली भी मीठी लगती है,
और तुझसे बिछड़ कर शहद भी खारा लगता है।

तेरी खूबसूरती अल्फाजो में बया नही हो सकती,
खूबसूरती का झरना है तू खूबसूरती का समंदर है तू।

तेरी परछाई बन कर तेरे साथ रहने का इरादा करते हैं,
कभी छोड़ेंगे नही तेरा साथ तेरे साथ मरने का वादा करते है।

तेरी यादे भी क्या गजब की थी उनमे मैं चूर हो रहा हूँ,
लिखता हूँ सिर्फ तेरे ही बारे में और मशहूर हो रहा हूँ।

तुझे बड़ी शिद्दत से चाहा है मैंने,
तुझे बड़ी मन्नतो से पाया है मैंने,
तुझे भुलाने की मैं सोच भी नही सकता,
क्योंकि तुझे हाथो की लकीर से चुराया है मैंने।

तू मुझे इस कदर अच्छा लगता है,
के तेरे बिन अब मुझे कुछ नही अच्छा लगता है।

उसको पाने का हक खो बैठे हैं,
फिर भी हम उसके इंतज़ार में बैठे हैं।

वो जिंदगी ही क्या जिसमे इश्क नही,
वो इश्क ही क्या जिसमे यादें नही,
और वो यादे ही क्या जिसमे तुम नही।

ये मेरा इश्क है कोई मजबूरी नही,
वो मुझे चाहे या मिल जाये ये जरूरी नही,
ये क्या कम है मेरी नजरो में बसी है,
अब मेरी आँखों के सामने हो ये जरूरी तो नही।

जिंदगी जीने के लिए नजर की नही नजरों की जरूरत होती है,
और हमे जीने के लिए किसी की नही सिर्फ तेरी जरूरत होती है।

(Visited 3 times, 1 visits today)

Leave a Reply